वजन बढ़ाने के तरीके

वजन बढ़ाने के तरीके | मोटा होने के लिए क्या खाना चाहिए

क्या आप भी अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं? क्या आप भी अपने दुबलेपन से परेशान हैं? क्या आपका दुबलापन आपके लिए शर्मिंदगी का कारण बनता है? अगर हाँ तो आज के लेख वजन बढ़ाने के तरीके | मोटा होने के लिए क्या खाना चाहिए, में मैं आपको बताने वाली हूँ वजन बढ़ाने के कुछ ऐसे तरीकों के बारे में जिनसे आप अपना वजन आसानी से बढ़ा सकते हैं और दुबलेपन की शर्मिंदगी से बच सकते हैं।

इसके साथ हम ये भी जानेंगे की वजन कम होने के कारण क्या क्या होते हैं। तो अगर आप भी अपना वजन बढ़ाने के उपायों को खोजते हुए मेरे इस Article पर आये हैं तो आप बिलकुल सही जगह पर हैं। अपने सवालों के जवाब के लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

दोस्तों जिस तरह मोटापा और बढ़ा हुआ वजन एक बड़ी समस्या है उसी तरह कई लोगों को कम वजन की समस्या का भी सामना करना पड़ता है। कम वजन होने की वजह से लोग तो उनका मजाक उड़ाते ही हैं, इसके अलावा वो कुपोषण के शिकार भी लगते हैं। जब शरीर मोटापे से ग्रस्त हो जाता है तो अनेक बीमारियों से ग्रस्त होने की संभावना बढ़ जाती है। इसी तरह बहुत दुबला-पतला शरीर भी अस्वस्थ होने का संकेत होता है। अधिक कमजोर शरीर स्वस्थ शरीर की तुलना में जल्द रोगग्रस्त हो सकता है।

दुबले-पतले लोग अपना वजन बढ़ाने या मोटा होने के लिए अनेक उपाय (mota hone ka upay) करते हैं, लेकिन उन्हें पूरी सफलता नहीं मिलती। दुबलेपन के कारण लोगों को अनेकों तरह की परेशानियां होने लगती हैं या उनको शर्मिंदगी भी झेलनी पड़ती है। लेकिन आप घबराएं नहीं क्यूंकि कुछ ऐसे घरेलू तरीके हैं जिनके जरिए आप चंद महीनों में ही आप Weight Gain कर लेंगे यानि आपका वजन बढ़ जाएगा। आप वजन बढ़ाने या मोटा होने के लिए निचे बताए हुए घरेलू उपायों (mota hone ka tarika) को अपना सकते हैं। 

वजन बढ़ाने के तरीके : आयुर्वेद में एक-दो नहीं बल्कि कई उपाय (mota hone ke upay) बताए गए हैं, जिनका पालन कर आप आसानी से अपना वजन बढ़ा सकते हैं। आइए अब जानते हैं उन उपायों के बारे में लेकिन पहले इस दुबलेपन को अच्छे से समझ लेते हैं यानि पहले जान लेते हैं की दुबलापन क्यों होता है? दुबलेपन का कारण क्या क्या हो सकता है। 

 

वजन बढ़ाने और मोटा होने के लिए असरदार घरेलू नुस्खे | Home Remedies for Weight Gain

Table of Contents

 

वजन का बढ़ना क्या है | What is Weight Gaining (वजन बढ़ाने के तरीके)

शरीर के भार में वृद्धि को वजन बढ़ना (Weight Gain) कहते हैं। जब व्यक्ति द्वारा ग्रहण की गई कैलोरीज की तुलना में उसकी शारीरिक गतिविधि कम होती है, तब वजन बढ़ता है। यह शरीर में वसा या अतिरिक्त तरल पदार्थ के जमा होने से होता है। सामान्य रूप से वजन का बढ़ना कोई समस्या नहीं है।

 

♦  Benefits of Rosemary | बालों और त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद है रोजमेरी ऑयल

♦  एवोकाडो के फायदे, उपयोग और नुकसान | Avocado Benefits in Hindi

 

दुबलापन क्या है | दुबलापन कैसे दूर करें | What is Thinness 

जब आपके शरीर का वजन सामान्य से कम हो तो उसे दुबलापन कहते हैं। ज्यादातर दुबलापन जठरागिनी के मंद होने से होता है। क्यूंकि जठरागिनी के मंद होने से व्यक्ति अल्प मात्रा में भोजन करता है जिससे की शरीर को उचित मात्रा में पोषक तत्त्व नहीं मिल पाते। इसी कारण शरीर में बनने वाले अन्य धातु जैसे की रक्त, मांस, मेद, अस्थि, मज्जा और शुक्रधातु इत्यादि को भी पोषण की कमी हो जाती है जिसके फलस्वरूप व्यक्ति निरंतर कृश से अति कृश होता जाता है। इसके अलावा अगर आप कम मात्रा में भोजन करते हैं तो शरीर शरीर की धातुओं का पोषण नहीं मिल पाता।

असामान्य रूप से वजन के घटने का कारण | Weight Loss Causes in Hindi

निम्न कारणों से लोगों की वजन में कमी आने लगती हैः-

  • टाइप-1 डायबिटीज– टाइप-1 डायबिटीज के कारण भी वजन घटता है।
  • हार्मोन संबंधी विकार- हार्मोन संबंधिक विकार में एड्रीनल ग्लैंड्स (Adrenal glands) अपर्याप्त मात्रा में हार्मोन का निर्माण करती है। इसके कारण वजन में कमी आती है। यह सभी उम्र के लोगों में हो सकता है।
  • अवसाद या तनाव – अवसाद में व्यक्ति का वजन बढ़ता है, लेकिन कई बार व्यक्ति में चिड़चिड़ापन एवं भूख में कमी आ जाती है, जिस कारण वजन घटता (home loss diet) है।
  • छोटी आँत में परेशानी– जब आँत भोजन के जरूरी पोषक तत्वों को अवशोषित नहीं कर पाता है तो इस स्थिति को कुअवशोषण (Malabsorption) कहते हैं। इस कारण भी वजन नहीं बढ़ता है, बल्कि घटने लगता है।
  • इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज (Inflammatory bowel disease)– इसमें आँतों में सूजन आ जाती है, जिससे पेट में दर्द होता है, और व्यक्ति को भूख नहीं लगती है। इससे धीरे-धीरे वजन घटने लगता है।
  • रूमेटाइड अर्थराइटिस (Rheumatoid arthritis)– अर्थराइटिस होने पर भी वजन नहीं बढ़ता है, लेकिन घटने जरूर लगता है। यह बीमारी 30-50 वर्ष की महिलाओं में होती है। यह एक सूजनकारी बीमारी है, जिसमें शरीर की ऊर्जा घटती-बढ़ती है।
  • थायरॉइड संबंधी समस्या- हाइपोथायरायडिज्म (Hyperthyroidism) में थायरॉयड (Thyroid) ग्रंथी अति सक्रिय हो जाती है। इससे शरीर की चयापचय क्रिया तेज हो जाती है। इसके कारण भी वजन घटने लगता है
  • वात दोष– वात की वृद्धि के कारण जठराग्नि तेज हो जाती है जिस कारण व्यक्ति को और भूख लगती है और वह और अधिक भोजन करता है, लेकिन वजन नहीं बढ़ता है।
  • पेट में अल्सर की समस्या होना (Particular)-अल्सर होने पर पेट में तेज दर्द होता है और भोजन के प्रति अरूचि हो जाती है। भोजन ना करने के कारण वजन घटता है।
  • ट्यूबरक्लोसिस (Tuberculosis)– टी.बी. एक संक्रामक रोग होता है, इसमें व्यक्ति की भूख कम हो जाती है, चयापचय क्रिया भी सुस्त पड़ जाती है। इसमें व्यक्ति का वजन तेजी से घटता है।
  • कैंसर के कारण- कैंसर होने पर शरीर में कैंसर सेल्स को बढ़ने के लिए अत्यधिक ऊर्जा की जरूरत होती है इसलिए वजन घटने की समस्या हो सकती है।

 

वजन के बढ़ने का कारण (Weight Gaining Causes in Hindi / वजन बढ़ाने के तरीके)

इन कारणों से वजन में बढ़ोतरी होने लगती हैः-

  • हार्मोनल असंतुलन के कारण।
  • शारीरिक गतिविधियों का अभाव।
  • बार-बार कुछ ना कुछ खाने की आदत।
  • थायरॉइड से संबंधित समस्या (हाइपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism) के कारण।
  • अवसाद। अधिक तनाव में व्यक्ति को अधिक भोजन करने की आदत हो जाती है।
  • अधिक तैलीय, वसायुक्त एवं बासी भोजन (mota hone ka upay), जंकफूड, प्रिजरवेटिव युक्त आहार का सेवन।
  • अधिक भोजन करना, लेकिन सुस्त जीवनशैली होना। यदि आप अधिक मात्रा में, या वसायुक्त भोजन ग्रहण करते हैं, लेकिन दिन भर बैठे रहना पड़ता है, तो आपका वजन तेजी से बढ़ सकता है।

 

♦  Pet ki Charbi kam karne ke upay | पेट कम करने के लिए प्राणायाम

♦  Ashwagandha Powder Benefits In Hindi | अश्वगंधा के फायदे और नुकसान

 

 

मोटा होने के लिए क्या खाना चाहिए

वजन बढ़ाने के घरेलू उपाय (Home Remedies for Weight Gaining in Hindi)

शरीर में दोषों के घटने या बढ़ने के कारण कई रोग पैदा होते हैं। आयुर्वेदीय उपचार प्राकृतिक उपचार है। यह शरीर के दोषों को संतुलित कर रोग को जड़ से खत्म करता है। अयुर्वेदिक चिकित्सा द्वारा बढ़े हुए दोषों को कम किया जाता है, और कम हो जाने पर संतुलित किया जाता है। इसलिए वजन बढ़ाने के लिए व्यक्ति को आयुर्वेदिक उपाय करना चाहिए, जो निम्लिखित हैं :-

1. केला (Banana) : केला मोटे होने की आयुर्वेदिक दवा है (Home Remedies for Weight Gaining in Hindi)

आप मोटे होने की दवा (mote hone ki dawa) के रूप में केले खा सकते हैं। एक दिन में कम से कम 10 – 12 केले खाने चाहिए क्यूंकि केला पौष्टिक एवं पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसे दूध या दही के साथ खा सकते हैं। यह वजन में वृद्धि करने में मदद करता है। अच्छे परिणाम के लिए सुबह खाना खाने के बाद 4 केले खा के दूध पी लें, फिर दोपहर में 2 माध्यम आकर का उबला आलू और 4 केले खाये और शाम में फिर से 4 केले दूध के साथ खाएं।

 

2. सोयाबीन : वजन बढ़ाने के लिए सोयाबीन का प्रयोग (Weight Gain Tips in Hindi)

नाश्ते में सोयाबीन एवं अंकुरित अनाज का सेवन करें क्यूंकि इनमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है। शरीर को मजबूत बनाने और वजन में वृद्धि के लिए इसे मोटा होने की दवा के रूप में उपयोग किया जाता है।

 

3. खजूर (Dates) वजन बढ़ाने के लिए खजूर का सेवन करें (how to eat dates for weight gain)

खजूर पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें हेल्दी फैट, कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन काफी अच्छी मात्रा में होता है। साथ ही खूजर पोटैशियम, डाइटरी फाइबर, कैल्शियम और आयरन का भी अच्छा सोर्स होता है। खजूर में विटामिन बी6 और मैग्नीशियम की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है। ये सभी पोषक तत्वों आपका वजन बढ़ाने में सहायक होते हैं।

 

4. किशमिश (Raisins) : वजन में वृद्धि के लिए किशमिश का सेवन (Weight Gain Tips in Hindi)

रोजाना दिनभर में एक मुट्ठी किशमिश खाएं। ऐसा करने से आपका वजन तेजी से बढ़ेगा। इसके अलावा किशमिश और अंजीर को बराबर भागों में बांटकर, रातभर भिगोने के बाद खाएंगे तो उससे भी वजन बढ़ेगा। या फिर 10 ग्राम किशमिश को लगभग चार घण्टे तक दूध में भिगोकर रखें। सोने से पहले इस दूध को उबाल लें। गुनगुना होने पर दूध पीकर किशमिश को खा लें। किशमिश शरीर को पुष्ट करती है, एवं तेजी से वजन (mote hone ki dawa) बढ़ाती है।

 

5. बीन्स (Beans) : बीन्स के सेवन से वजन में वृद्धि (Home Remedy for Gain Weight in Hindi)

बीन्स और फलियों के अलावा राजमा और दालें खाने से भी वजन बढ़ेगा। लायमा बीन्स और सोयाबीन इसमें ज्यादा कारगर हैं इसलिए जरूरी है कि आप इन्हें किसी ना किसी फॉर्म में जरूर खाएं। बीन्स यानि फलियों में कार्बोहाइड्रेट्स और कैलोरी के अलावा फाइबर की मात्रा भी काफी होती है और ये सब तत्व वजन बढ़ाने में मदद करते हैं। बिन्स को मोटे होने के लिए दवा के रूप में उपयोग में ला सकते हैं। सब्जी में बीन्स का प्रयोग अधिक करें। यह पौष्टिक होने के साथ-साथ वजन बढ़ाने में भी मदद करता है

 

इन सब उपायों के अलावा आप निचे दिए गए उपाय भी कोशिश करके देख सकते हैं :

1. रोजाना सुबह 4 केले खाएं और थोड़ी देर बाद एक गिलास दूध पिएं।
2. एक मुट्ठी काले चने शाम को भिगो दें और सुबह दूध पीने के 1 घंटे बाद इन्हें चबा-चबाकर खा लें।
3. अपनी डाइट को 5 भागों में बांटे। सुबह का नाश्ते और लंच के बीच में मीठे फल खाएं। शाम के वक्त केले और दूध से बना शेक का सेवन करें।
4. अपनी डाइट में हरी सब्जियां जैसे ब्रोकली, पत्तागोभी, पालक के अलावा बैंगन, कद्दू आदि शामिल करें।
5. प्रोटीन से भरपूर दाल अरहर, मसूर की दाल, मूंग की दाल आदि शामिल करे।
6. ब्रेकफास्ट में एक कटोरी फल के साथ ब्रेड में बटर लगाकर खा सकते हैं। बटर के अलावा आप पीनट बटर लगा सकते हैं।
7. सलाद का सेवन अधिक मात्रा में करे। इसमें आप थोड़ा सा ओलिव आयल जरूर डालें। इससे पोषक तत्वों के साथ स्वाद अच्छा मिलेगा।
8. कैल्शियम से भरपूर दूध संबंधी चीजों का सेवन अधिक करे। इसमें आप रोजाना वसा युक्त दूध और दही का सेवन करे।
9. प्रोटीन से भरपूर दूध, मछली, अंडा, सोयाबीन, आदि का सेवन कर सकते हैं।
10. हाई कैलोरी के लिए कार्बोहाइड्रेट बहुत ही जरूरी है। इसके लिए आप पास्ता, बीन्स, आलू आदि अपनी डाइट में शामिल करे।
11. रोजाना एक मुट्ठी सुबह और एक मुट्ठी शाम को मूंगफली का सेवन जरूर करे।
12. स्नैक्स में ड्राई फूट्स, उबली सब्जियां या फिर पनीर सैंडविच खाएं।
13. रात को सोने से पहले एक गिलास दूध जरूर पिएं। 
14. रोजाना अनार का जूस पीने से वजन तेजी से बढ़ता है।
15. पतले लोग अगर चने के साथ खजूर खाएं तो वो बहुत जल्दी वेट गेन करते हैं।
16. तनावमुक्त अच्छी नींद लेने की कोशिश करे। रोजाना कम से कम 6-7 घंटे की नींद लें।

वजन बढ़ाने के लिए डाइट : एक महीने में वजन कैसे बढ़ाये (वजन बढ़ाने के तरीके)

Weight Gain Diet Plan: वजन बढ़ाने के लिए आप एक महीने का खास डाइट प्लान फॉलो करके देख सकते हैं। इससे आपको धीरे-धीरे वजन बढ़ सकता है। 

How to Gain Weight in 1 Month: आजकल अधिकतर लोग अपने मोटापे से परेशान हैं, तो कुछ लोग ऐसे हैं जो दुबले-पतले शरीर की वजह से शर्मिंदगी का सामना कर रहे हैं। कमजोर शरीर व्यक्ति की पर्सनालिटी के साथ ही उसके कॉन्फिडेंस लेवल को भी गिरा देता है। ऐसे में अधिकतर लोग अपना वजन बढ़ाने के लिए तरह-तरह के सप्लीमेंट, प्रोटीन पाउडर का सहारा लेते हैं।

लेकिन कुछ लोग प्राकृतिक तरीके से वजन बढ़ाना पसंद करते हैं। अगर आप भी नैचुरल तरीके से अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो एक महीने तक खास डाइट प्लान फॉलो कर सकते हैं। इस डाइट प्लान को सही तरीके से फॉलो करने से आपका वजन धीरे-धीरे बढ़ने लगेगा। साथ ही शारीरिक कमजोरी में भी आराम मिलेगा।

 

एक महीने में वजन कैसे बढ़ाएं (Weight Gain Plan for 1 Month)

वैसे तो एक महीने में किसी का भी वजन बढ़ाना काफी मुश्किल होता है। लेकिन अगर सही डाइट प्लान फॉलो किया जाए, तो एक महीने के अंदर धीरे-धीरे वजन बढ़ाने की शुरुआत की जा सकती है। इसके लिए आपको अपनी डाइट, जीवनशैली का खास ध्यान रखना जरूरी है। चलिए जानते हैं वजन बढ़ाने के लिए आपका ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर कैसा होना चाहिए?

 

ब्रेकफास्ट / नाश्ता (Weight Gain Breakfast)
नाश्ता कभी स्किप नहीं करना चाहिए। वजन बढ़ाने वाले लोगों को तो नाश्ता हमेशा करना चाहिए। इसमें हेल्दी फूड्स का सेवन करना चाहिए। वजन बढ़ाने के लिए आपको अपने ब्रेकफास्ट में 2-3 अंडे, 2 टोस्ट और एक गिलास फुलक्रीम दूध शामिल करना चाहिए। इसके अलावा वजन बढ़ाने के लिए आप नाश्ते में दलिया, ओट्स, स्टफ परांठा, उपमा या फिर पोहा भी खा सकते हैं। एक महीने तक लगातार हैवी ब्रेकफास्ट करने से आपको वजन बढ़ाने में मदद मिलेगी।

 

मिड मॉर्निंग (Mid Morning Diet for Weight Gain)
वजन बढ़ाने के लिए हर 2-3 घंटे में कुछ न कुछ हेल्दी खाना जरूरी खाना चाहिए। वजन बढ़ाने वाले लोगों को मिड मॉर्निंग डाइट भी लेनी चाहिए। इसमें आप कोई भी एक फल, दही के साथ ग्रनोला और नट्स शामिल कर सकते हैं। रोज इन चीजों को साथ में खाने से वजन बढ़ाने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही आप फलों का जूस, स्मूदी भी मिड मॉर्निंग में ले सकते हैं।

 

लंच (Lunch for Weight Gain)
वजन बढ़ाने वाले लोगों को लंच प्रॉपर करना चाहिए। लंच में आपको अपनी डाइट में में 2-3 रोटी, एक कटोरी सब्जी, एक कटोरी दाल, थोड़ा सा नॉनवेज और एक कटोरी चावल शामिल करना चाहिए। अगर आफ नॉनवेज नहीं खाते हैं, तो इसकी जगह पर आप फुल क्रीम दही या फिर पनीर खा सकते हैं। इसके साथ ही एक कटोरी सलाद भी अपने लंच में जरूर शामिल करें। ग्रील्ड चिकन, पनीर सैंडविच भी वजन बढ़ाने में फायदेमंद होते हैं। वजन बढ़ाने वाले लोगों को हैवी लंच करना चाहिए। इसके बाद 20-25 मिनट की वॉक जरूर करनी चाहिए।

 

शाम का नाश्ता (Evening Snacks for Weight Gain)
वजन बढ़ाने के लिए शाम का नाश्ता करना भी जरूरी होता है। इसमें आप मिल्कशेक के साथ वेजिटेबल या नॉनवेज सैंडविच चीज लगाकर खा सकते हैं। इससे वजन बढ़ाने में आपको मदद मिलेगी।

डिनर (Dinner for Weight Gain)
वैसे तो कहा जाता है कि डिनर हमेशा हल्का खाना चाहिए, लेकिन वजन बढ़ाने वाले लोगों को डिनर भी अच्छी मात्रा में करना चाहिए। डिनर में भी आपको लंच की तरह ही 2-3 रोटियां, एक कटोरी सब्जी, एक कटोरी दाल खानी चाहिए। लेकिन रात को चावल खाने से बचें। इसके अलावा बेस्ड फिश, ग्रील्ड वैड सैंडविच या वैज सैंडविच भी आप डिनर में ले सकते हैं। डिनर हमेशा सोने से 2-3 घंटे पहले कर लेना चाहिए। इसके बाद सोते समय एक गिलास दूध पिएं।

वजन बढ़ाने के टिप्स (Weight Gain Tips in Hindi)

• वजन बढ़ाने के लिए अपनी डाइट में हाई कैलोरी फूड्स को शामिल करें।
• प्रोटीन रिच फूड्स भी वजन बढ़ाने में लाभकारी होते हैं। इसके अलावा डेयरी प्रोडक्ट्स, स्टार्च प्रोडक्ट्स भी वजन बढ़ाते हैं।
• वजन बढ़ाने वाले लोगों को कभी भी अपना मील नहीं छोड़ना चाहिए।
• वजन बढ़ाने के लिए रेगुलर एक्सरसाइज भी जरूरी है। इसके लिए आप कुछ खास वेट गेन एक्सरसाइज कर सकते हैं।
एक महीने तक इस डाइट प्लान को पूरी तरह से फॉलो करने से आपका वजन धीरे-धीरे बढ़ने लगेगा। लेकिन अगर आप पहले से ही कोई डाइट ले रहे हैं, तो इसे एक्सपर्ट की सलाह पर ही लें।

 

वजन बढ़ाने (मोटा होने) के लिए आपका खान-पान (Your Weight Gain Diet)

वजन बढ़ाने के लिए आपका खान-पान ऐसा होना चाहिए :-

  • भोजन में कार्बोहाइड्रेट्स और वसायुक्त आहार को प्राथमिकता दें।
  • मक्खन एवं घी का अपने भोजन में प्रयोग जरूर करें।
  • सूखे मेवे एवं वसायुक्त दूध का सेवन करें।
  • अपनी डायट (Diet) को पाँच भागों में बाँटे। सुबह के नाश्ते और भोजन के बीच में मीठे फल खाएँ। शाम के वक्त केले एवं दूध से बना शेक पिएँ।

 

वजन बढ़ाने (मोटा होने) के लिए आपकी जीवनशैली (Your Weight Gain Lifestyle)

वजन बढ़ाने के लिए आपकी जीवनशैली ऐसी होनी चाहिए :-

  • समय पर भोजन करें (mota hone ka tarika)।
  • धीरे-धीरे चबाकर भोजन खाएँ।
  • रात में जागने से बचें, और 6-7 घण्टे की भरपूर नींद लें।
  • अत्यधिक तनावयुक्त जीवनशैली से बचें।
  • नियमित रूप से प्रात प्राणायाम करें।

 

इन आयुर्वेदिक तरीकों के अलावा आप वजन बढ़ाने वाली दवाओं का भी सेवन कर सकते हैं। मार्किट में 2 तरह की Weight Gain Medicine (आयुर्वेदिक दवा और एलोपैथिक) दोनों रूपों में उपलब्ध है। 2 तरह की Weight Gain Medicine उपलब्ध है। इन दोनों प्रकार में से मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक दवा सबसे अच्छी है। क्योंकी आयुर्वेद से हमें कोई बड़ा नुकसान नहीं होता और फायदे ज्यादा है।

इसीलिए मैंने आपके लिए कुछ Ayurvedic Medicine की जानकारी एकत्र की है जिसमे टेबलेट, कैप्सूल, मास्स गेनर और प्रोटीन पाउडर शामिल है।

 

10 जल्दी मोटा होने की दवा टेबलेट 2022

जल्दी मोटा होना या बॉडी बनानी है? तो याद रखे आपको Calorie Surplus में जाना होगा। यानी दिन के खाने द्वारा 2200 कैलोरी प्राप्त करते है। तो अब से प्रति दिन 2500 कैलोरी प्राप्त करनी होगी। जिसमे आपको निचे बताई 10 Best Mota Hone Ki Dawa पूरी सहायता करेगी।

1. Patanjali Badam Pak, 500g

 

2. Dr. Biswas Ayurvedic Good Health – 50 Capsules, Pack of 3

 

 

3. Paurush Jeevan Ayurvedic Capsules (6×10 Caps)

 

4. Sun India Swasth Vardhak Capsules (60 Caps) – Pack of 4

 

5. Bigmuscles Nutrition Real Mass Gainer [1Kg, Chocolate] | Lean Whey Protein Muscle Mass Gainer, Complex Carbohydrates, 1000 Calories

 

6. Rajasthan Herbals International Namira Pack of Herbal Weight Gain & Immune Improvement Powder

 

7. MuscleBlaze Mass Gainer XXL (Chocolate, 1 kg / 2.2 lb)

 

8. Health Tone Winlip Herbal Weight Gain Capsules (Made In Thailand) 500mg,Pack of 90 capsules

 

9. MuscleBlaze Biozyme Performance Whey Protein, (Informed Choice UK, Labdoor USA Certified) with US Patent Filed EAF® (Kesar Thandai, 850 g / 1.8 lb)

 

10. Guduchi – the ayurvedism GAIN-IT Tablets for Fast Weight & Muscle Gain and Bone Strength | For Under weight men and women | 500mg Tablets – 120 Tabs

 

 

 

♦  डिलीवरी के बाद पेट कैसे कम करें – How to lose Belly Fat after Delivery

♦  पानी पीने का सही तरीका और समय – The Right Way and Time to Drink Water

♦  दिमाग को शांत कैसे रखे | How to keep Mind Calm and Steady

♦  ख़ुशी क्या है – ख़ुशी और खुशहाली का असली मतलब क्या है | What is the True Meaning of Happiness

♦  व्रत और उपवास क्यों रखे जाते हैं – इसका वैज्ञानिक कारण क्या है

 

उम्मीद करती हूँ आपको हमारा यह आर्टिकल वजन बढ़ाने के तरीके | मोटा होने के लिए क्या खाना चाहिए, पसंद आया होगा और आपको वजन बढ़ाने के तरीके, जल्दी मोटा होने के उपाय, vajan badhane ka tarika, वजन बढ़ाने के तरीके, तुरंत मोटा होने के उपाय, mote hone ka tarika, मोटा होने के लिए क्या खाना चाहिए, mota hone ke upay जैसे सवालों के जवाब मिल गए होंगे।

आज के लेख से जुड़े किसी भी तरह के सुझाव या सवाल के लिए आप मुझे कमेंट कर सकते हैं। जिससे मेरा मोटिवेशन बढ़ेगा और मैं आपके लिए इसी प्रकार की पैसे कमाने से संबंधित और भी उपयोगी और महत्वपूर्ण जानकारियां लेकर आती रहूंगी।

आज का यह लेख वजन बढ़ाने के तरीके | मोटा होने के लिए क्या खाना चाहिए, पसंद आया हो तो पोस्ट को Like और Share करना ना भूलें। आपका एक Share हमें और ज्यादा अच्छा काम करने के लिए प्रेरित करता है। अगर आप हमारे साथ जुड़ना चाहते हैं तो हमारे Facebook Page को Like करे और हमें Subscribe जरूर कर लें।

Share This Post and Spread the Love

Leave a Comment

Your email address will not be published.